Wednesday, April 24, 2019

Shayari: शायरी - Shayari on Love | Shayari in Hindi

Shayari in hindi

दिल : प्यार | बाहोब्बत | इश्क


दिल मे प्यार का आगाज हुआ करता है,
बाते करने का अंदाज हुआ करता है,
जब तक दिल को ठोकर नही लगती,
सबको अपले प्यार पर नाज हुआ करता है।

Dil me pyar ka aagaj huaa karta hai,
Bate karne ka andaj huaa karta hai,
Jab tak dil ko tomar nahi lgta,
Sabko apne pyar par naaj huaa karta hai,

 करदे नजरें करम मुझ पर,
मैं तुझपे ऐतबार कर दूँ,
दीवाना हूँ तेरा ऐसा,
की दीवानगी की हद को पार कर दूँ,


Karde najre karm mujh par,
Me tujhpe atbar kardu,
Deewana hu tera aesa,
Ki deewangi ki had ko par kar du
लवो  को छू कर यूँ बहकाया न करो ,
यूँ ख्वाबो में आकर इश्क महकाया न करो।

Lawo ko chhu kar yun bulaya na karo,
Yun khuwabo me aakr ishq milaya na karo,
 तेरी नशे वाली आँखों का बड़ा नाम है,
आज नजरो से पिला दो हम तो वैस भी
बदनाम है।

Teri nashe wali aankho ka bata nam hai,
Aaj najro se pila do ham to wese bhi
Bdnam hai,

 तेरे नाम से मोहब्बत की है, तेरे ऐहसास से मोहब्बत की है,
तू मेरे पास नही फिर भी,तेरी याद से मोहब्बत की है।


प्यार भरी शायरी

shayari on love


लाखो हसीन है इस दुनिया में तेरी तरह,
क्या करे हमे तो तेरी रूह से प्यार है।

अजीब सी बेताबी रहती है तेरे बिना,
रह भी लेता हूं और रहा भी नही जाता तेरे बिना।

                      
आज कि रात बहुत खूबसूर नजर आती हो,
दूर हो इतनी मगर करीब नजर आती हो,
देख कर खुद को तुम खुद से शर्मा जाओ,
ऐ सी तुम चांद की चांदनी नजर आती हो।

ab bhi main tumhe dekhta hu to main aashcharya me pad jata hu ki meri kismat itni achchhi kaise ho gai.
जब भी मैं तुम्हे देखता हूँ तो मैं आश्चर्य में पड़ जाता हूँ की मेरी क़िस्मत इतनी अच्छी कैसे हो गई।

Itna pyar to main khud se bhi nahi karta tha, jitna ki main tumse karne laga.

इतना प्यार तो मैं खुद से भी नहीं करता था, जितना की मैं तुमसे करने लगा।

Dil to sirf tumse mohabbat karta tha, auro se nahi.

दिल तो सिर्फ तुमसे मोहब्बत करता था, औरों से नहीं।

Mar mitenge tere pyar me ai sanam, jara sa dil me jagah de kar to dekh.

मर मिटेंगे तेरे प्यार में ऐ सनम, जरा सा दिल में जगह दे कर तो देख।

Mohabbat usase nahi ki jati hai jo subsurat ho, subsurat ho jata hai jisase mohabbat ho.

मोहब्बत उससे नहीं की जाती है जो सुबसुरत हो, सुबसुरत हो जाता है  जिससे मोहब्बत हो।

Pahli mohabbat ke liye dil jise chunta hai, wo apana ho na ho, dil par raaz usi ka hota hai.

पहली मोहब्बत के लिए दिल जिसे चुनता है, वो अपना हो ना हो, दिल पर राज़ उसी का होता है।

शायर की कलम से 


Mar mitenge ye sanam tere pyar me,
Agar tu meri na hui to hum duniya se bhi lad baithenge.


मर मिटेंगे ये सनम तेरे प्यार में, अगर तू मेरी न हुई तो हम दुनिया से भी लड़ बैठेंगे।
Jo ladki aapko dekhkar pagal kahti hai, vahi ladki aapse sachi mohabbat karti hai.


जो लड़की आपको देखकर पागल कहती है, वाही लड़की आपसे सच्ची मोहब्बत करती है।
Hamne to sirf aapko dekha tha, par is aankho ka kya kasoor, kasoor to is dil ka hai jo aapse mohabbat kar baitha.


हमने तो सिर्फ आपको देखा था, पर इस आँखों का क्या कसूर, कसूर तो इस दिल का है जो आपसे मोहब्बत कर बैठा।

Tumhari phikar hai, isme mujhe koi shak nahi, tumhe koi aur dekhe kisi ki hak nahi.

तुम्हारी फिक्र है, इसमें मुझे कोई शक नहीं, तुम्हे कोई और देखे किसी की हक़ नहीं।

 दीवाने की नजर से 

shayar

Ek ladki thi deewani si,
Chori- chori chupke chupke humko dekha karti thi,
Naa jaane wo humse kuch kahna chahti thi,
Phir n jaane kisase darati thi.

एक लड़की थी दीवानी सी,
चोरी - चोरी चुपके चुपके हमको देखा करती थी,
ना जाने वो हमसे कुछ कहना चाहती थी,
फिर न जाने किससे डरती थी।
Ek ladki thi jisase main bahut pyar karta tha,
Par n jaane main usase kuch kahne se darata tha.

एक लड़की थी जिससे मैं बहुत प्यार करता था,
पर न जाने मैं उससे कुछ कहने से डरता था।
Katil gunah karke zabane me rah gaye,
Katil gunah karke zabane me rah gaye,
Aur ek hum the,
Jo unse ishq kar katil ban gaye.

कातिल गुनाह करके ज़बाने में रह गए,
कातिल गुनाह करके जबाने में रह गए,
और एक हम थे,
जो उनसे इश्क़ कर कातिल बन गए।
Mujhe n dekh tum naraaz mat hona,
Mujhe n dekh tum naraaz mat hona,
Jab meri yaad aaye tum meri taswir dekh khush ho jana.

मुझे न देख तुम नाराज़ मत होना,
मुझे न देख तुम नाराज़ मत होना,
जब मेरी याद आये तुम मेरी तस्वीर देख खुश हो जाना।
Kaha koi aisa mila jis par dil luta dete,
Kaha koi aisa mila jis par dil luta dete,
Har ek ne dhokha diya kis kis ko bhula dete.

कहाँ कोई ऐसा मिला जिस पर दिल लूटा देते,
कहाँ कोई ऐसा मिला जिस पर दिल लूटा देते,
हर एक ने धोखा दिया किस किस को भुला देते।
ज़िन्दगी अब युही चलती जाएगी
उमर भी युही ढलती जाएगी
न जाने किस मोर पर अब ज़िन्दगी मिले
किस पल वो फिर से मुझे देख कर मुस्कुराए गी

zindagi ab yuhi chalti jayegi
umr bhi yuhi dhalti jayegi
na jane kis mor per ab jindagi mile
kis pal wo fir se mujhe dekh kar muskurayegi

तेरे इंतजार में 

love wali shayari

लम्हा  बिता है उसीके इंतेजार में
कमी नहीं थी कोई मेरे भी पियार मैं
फिर भी मैं क्यू ?उससे दूर हुआ ?
सायद कुछ ज़ियादा ही यकीन था किस्मत पर अपनी
तभी तो ठोकर लगी पियार में

lamha bita hai usi k intejar me
kami nahi thi koi mere bhi piyaar me
fir bhi  main q usse dur  hua?
sayad kuch ziyada hi yakeen tha kismat per apni
ya khud ko is kabil kabhi samjha hi nahi
tabhi to thokar lagi piyaar me
बैठे बैठे युही रात हो गयी
तेरे खयालो में जागना बात
ये अब आम हो गयी

baithe baithe yuhi raat ho gayee
 tere khayalo me jagna baat
ye ab aam ho gayee
सायद तेरा भी दायरा है
या ज़माने का उसूल है
हर कोई अब ऐसा ही है
तेरा भी किया कसूर है

sayad tera bhi dayera hai
ya zamane ka usul hai
har koi ab aisa hi hai
tera bhi kiya kasoor hai
दूरी शायरी हिंदी में

कुछ तो कामी है तेरे मिलने में
के बात कहने को कुछ नहीं
इस खामोसी में कोई अल्फ़ाज़ नहीं
वक़्त ने इतना दूर कर दिया अब हमें
नजाने कितने वक़्त लगे ये दर्द सिलने में

kuch to kami hai tere milne main
ke baat kehne ko kuch nahi
is khamosi me koi alfaaz nahi
waqt ne itna dur kar diya ab hame
na jane kitne waqt lage ye dard silne me
लव शायरी

तुझे भी मेरे बिना जीना आगया
मुझे भी तेरे बिन जीना आगया
तुझको माना  था खुदा कभी
कभी इबादत बनाया था मेरी
हासिल आज तू कही भी नहीं

tujhe bhi mere bin jina aagaya
mujhe bhi tere bin jina aagaya
tujhko mana tha khuda kabhi
kabhi ibaadat banaya tha meri
hasil aaj tu kahi bhi nahi



पूरी शायरी - ख्याल आता है

love wali shayari 2

जब जब ये ख्याल आता है
की अब तुझे भूल जाना है
फिर से उम्मीद जुटाता हु
एक और बार कोसिस कर  जाता हु

आज सुब्हा पर अजीब सा ख्याल आया
लगा जैसे तुझे पाने के सारे रास्ते  खत्म
लगा जैसे चलो अब ज़िन्दगी को काटते है हम

जितना  जीना था जीलिया ज़िन्दगी
अब सासें  लेनेको  ज़िंदा हु कैहँगे हम


अब कोई आंखोमे  सपना नहीं होगा
न होगा किसी को खोने का गम

पर फिर दिल में ये ख्याल आया
किया सच में कोई रास्ता नहीं
ढूंढ फिर एक बार देख कुछ बाकि तो नहीं

चलना फिर उसी रास्ते सायद कुछ मिल जाये
इन अंधेरी रह में कोई चिराग नजर आये

उसे खोना है तो खो देना ,मर के जीना है तो जिलेना
पर मरने से पहले क्यू मरता है
पाता वही है जो लरता है
चलना थोड़ा जान की बाजी लगा ले
जान तो जा रही है
तू अपना सब कुछ अब लागाले

बस इतना ख्याल हो तेरे कोसिस में न किसी का बुरा हाल हो


jab jab ye khayal aata hai
ki ab tujhe bhul jana hai
fir se ummid juta ta hu
ek aur bar kosis kar jata hu

aaj subha per ajib sa khayal aaya
laga jaise tujhe pane ke sare raste khatam
laga jaise chalo ab zindagi ko kat te hai ham

jitna jina tha ji liya zindagi
ab saanse lene ko jinda hu kahenge ham

ab koi aankho me sapna nahi hoga
na hoga kisi ko khone ka gam


per fir dil me ye khayal aaya
kiya sach me koi raasta nahi
dhund fir ek bar dekh kuch baki to nahi

chalna fir usi raaste sayad kuch mil jaye
in aandheri rah me koi chirag najar aaye


use khona hai to kho dena,mar k jina hai to ji lena
per marne se pehle q marta hai
pata wahi hai jo larta hai
chalna thora jaan ki baazi lagale
 jaan to jaa rahi hai
tu aapna sab kuch ab lagale


अनमोल शब्द

Love Shayari

jab koi nahi tha to bohut anmol the hum
naye log mil gaye to hamari koi auqaat nahi rahi

जब कोई नहीं था तो बहुत अनमोल थे हम
नए लोग मिल गए तो हमारी कोई औकात नहीं रही
koi nahi yaad karta wafa karne walo ko yahan
meri maano bewafa ho jaon jamana yad rakhega

कोई नहीं याद करता वफा करने वालो को यहाँ
मेरी मानो बेवफा हो जाओं जमाना याद रखेगा
kon kehta hai mereb bina wo kush hai
zara unke samne mera naam ke kar dekho

कौन कहता है मेरेब बिना वो खुश है
जरा उनके सामने मेरा नाम के कर देखो
faslo se agar jeena sikh sakte ho tum
to tumhe izazat hai hum se dooriyan karne ki

फसलों से अगर जीना सीख सकते हो तुम
तो तुम्हे इजाजतहै हम से दूरियाँ करने की

हमें हिंदी शायरी का शौक कहाँ
हम तो लिखते हैं फकत अन्दाज तेरे

Hamen Hindi Shayari ka shauq kahan
Ham to likhte hain faqat andaaz tere
तेरे इश्क में दीवानी हूँ
तू है समां मैं तेरी परवानी हूँ

Tere Ishq me deewani hun
Too hai sama main teri parwani hun

हृदय से निकले  शब्द

True Love Shayari

समंदर इश्क की गहराई को न नाप तोल
तसव्वर में यार को राख और डॉब्ट जा डूबता जा

Samandar e ishq ki gahrayi ko na naap tol
Tasawwar me yaar ko rakh aur ddobta ja doobta ja
वो शायर होते हैं जो शायरी लिखते हैं
हम तो बदनाम से लोग हैं सिर्फ दर्द लिखते हैं

Wo shayar hote hain jo shayari likhte hain
Ham to badnaam se log hain sirf dard likhte hain
बहुत अजीब होता है कमबख्त इश्क का खेल
कोई एक भी थक जाये तो दोनों हार जाते हैं

Bahot Ajeeb hota hai kambakht ishq ka khel
Koi aik bhi thak jaye to dono haar jate hain
Maa ke naam shayari
Wo aksar mere chehre ko choom leti hai
jinke main pair chhoone ke bhi qabil nahin

माँ के नाम शायरी

वो अक्सर मेरे चेहरे को चूम लेती है
जिनके मैं पैर छूने के भी काबिल नहीं

 मोहब्बत


ए इश्क मेरा ऐहतेराम कर
एक सरफिरे की अनमोल मोहब्बत हूँ मैं
Aye ishq mera ahteraam kar
Aik sarfire ki anmol mohabbat hun main
हिंदी शायरी की शहजादी हूँ यारों से यारी है
मोहब्बत मेरी कहानी है बाकी रब की मेहरबानी है

Hindi shayari ki shahzaadi hun yaaron se yaari hai
Mohabbat meri kahani hai baqi rab ki meharbaani hai
shayari in hindi अबतक तो देखा ही नहीं मुखडा उनका
जिनके नाम करते हैं शायरी अपनी
Abtak to dekha he nahin mukhda unka
Jinke naam karte hain shayari apni
वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते
कसूर हर बार गल्तियों का नही होता

vaham se bhi aksar khatm ho jaate hain kuchh rishte
kasoor har baar galtiyon ka nahee hota 

प्यार इश्क और बाहोब्बत 

प्यार इश्क और बाहोब्बत

Hum samandar hai hamen khamoosh rahne do
zara machal gaye to shahar le doobengey

हम समंदर है हमें खामोश रहने दो
जरा मचल गए तो शहर ले डूबेंगे
shero shayari koi khel nahi janab
jal jaati hai jawaniyan lafzo ki aag main
शेरो शायरी कोई खेल नहीं जनाब
जल जाती है जवनियाँ लफ्जो की आग में
hijr ki pahli fajar ka haal mat puchiye saheb
main khuda ke samne aur dil mere samne rota hai
हिज्र की पहली सफर का हाल मत पूछिए साहब
मैं खुदा के सामने और दिल मेरे सामने रोता है
choda kar haath narmi ye kehti hai sab ke samne
abhik tak gair marhoom tumhari kuch nahi lagti
छोड कर हाथ नरमी ये कहती है सब के सामने
अभिक तक गैर मरहूम तुम्हारी कुछ नही लगती
तेरे सिवा कोई भी नाम पसंन्द नही दिल को,
कुछ इस तरह से कब्जा किया है अदाओं ने तेरी

tere siva koy bhi naam pasannd nahee dil ko,
kuchh is tarah se kabja kiya hai adaon ne teri
हिन्दी शायरी, हिंदी शायरी

एक हल्की सी झलक क्या मिली बेचैन नज़रों को,
हज़ारों ख़्वाब दिल ने देख डाले चंद लम्हों में

ek halki si jhalak kya mili bechain nazaron ko,
hazaaron khvaab dil ne dekh daale chand lamhon mein



No comments:

Post a Comment